Support service
×

चैप्टर 14. लाभ और हानि की गणना

हम फॉरेक्स पर इस्तेमाल की जाने वाली बुनियादी शर्तें और मार्जिन ट्रेडिंग के मुख्य सिद्धांतों पर अच्छी तरह से विचार कर चुके हैं। अब यह अध्ययन करने का समय है कि ओपन्ड ट्रेड्स में लाभ और हानि की गणना कैसे करें।

हम जानते हैं कि एक ट्रेडर एक डीलिंग कंपनी की मदद से अंतरराष्ट्रीय मुद्रा बाजार में प्रवेश करता है जो एक ट्रेडर के लिए यूएस डॉलर में एक खाता खोलती है। फॉरेक्स पर काम करने में सक्षम होने के लिए ट्रेडर्स को इस खाते में प्रारंभिक राशि का हस्तांतरण करना चाहिए। सभी लाभ और हानि किसी डील की मुद्रा की परवाह किए बिना अमेरिकी डॉलर में परिवर्तित हो जाते हैं। इस अध्याय में हम लाभ और हानि की गणना के सिद्धांत पर विस्तार से विचार करेंगे।

सामान्य तौर पर, आपके ओपन्ड डील्स के फ़ाईनैनसियल रिजल्ट की गणना करने का फार्मूला निम्नलिखित है:

फ़ाईनैनसियल रिजल्ट = (बाई प्राइस - सेल प्राइस) * लॉट्स की संख्या * लॉट साइज़ - कमीशन * लॉट्स की संख्या ± स्वैप

जाहिर सी बात है, फ़ाईनैनसियल रिजल्ट में तीन भाग होते हैं: ट्रेडिंग रिजल्ट, कमीशन्स और स्वैप साइज़।

हम जानते हैं कि फॉरेक्स पर दो प्रकार के कॉट्स होते हैं (क्रॉस रेट्स को बिना ध्यान में रखे हुए) - डाइरेक्ट और इन्डाइरेक्ट। पहले मामले में, एक पेयर में बेस करेंसी अमेरिकी डॉलर के मुकाबले एक विदेशी मुद्रा है, और कॉट् अमेरिकी डॉलर में व्यक्त (कॉटेड) किया गया है। वहीं दूसरे मामले में, अमेरिकी डॉलर एक पेयर में बेस करेंसी है, और कॉट एक विदेशी मुद्रा में अंकित है। उपर्युक्त फॉर्मूले में ट्रेडिंग रिजल्ट की गणना कॉटेड करेंसी में की जाती है। कमीशन्स और स्वैप आमतौर पर अमेरिकी डॉलर में अंकित होते हैं। यही कारण है कि यह फार्मूला केवल डाइरेक्ट कॉट्स के लिए सत्य है। इस फॉर्मूले में यह उल्लेख किया जाना चाहिए कि बाई और सेल प्राइस कॉट के घटक नहीं हैं बल्कि वे वास्तविक मूल्य हैं जिन पर हम मुद्रा खरीदते या बेचते हैं। विशेष रूप से, हम इस बात पर ध्यान नहीं देते कि कौन सा ऑपरेशन पहले किया गया था (बाई या सेल)। यदि फ़ाईनैनसियल रिजल्ट सकारात्मक है, तो हमें लाभ मिलता है और अगर यह नकारात्मक है, तो हमें हानि होती है।

इन्डाइरेक्ट कॉट्स के मामले में बाई और सेल प्राइस के बीच का अंतर विदेशी मुद्रा में व्यक्त किया जाता है, जबकि टोटल फ़ाईनैनसियल रिजल्ट अमेरिकी डॉलर में होता है। इस लिए, इन्डाइरेक्ट कॉट्स के फ़ाईनैनसियल रिजल्ट की गणना करने के लिए  हमें निम्नलिखित फॉर्मूले का उपयोग करना चाहिए:

फ़ाईनैनसियल रिजल्ट = (1/बाई प्राइस - 1/सेल प्राइस) * लॉट्स नंबर * लॉट साइज - कमीशन्स * लॉट्स नंबर ± स्वैप

लॉट साइज़ एक निश्चित कॉट (करेंसी पेयर पर) और किसी विशेष ऑनलाइन ब्रोकर की प्राथमिकताओं पर निर्भर करता है। ऊपर प्रस्तुत किए गए फ़ार्मुलों का उपयोग तब किया जाता है जब लॉट साइज़ किसी विदेशी मुद्रा (अमेरिकी डॉलर में नहीं) में दर्शाया गया हो। उदाहरण के लिए, GBP/USD के डाइरेक्ट कॉट में लॉट साइज़ £70,000 हो सकता है। USD/JPY के इन्डाइरेक्ट कॉट में लॉट साइज़ 12,500,000 हो सकता है। यदि आपका ऑनलाइन ब्रोकर अमेरिकी डॉलर में लॉट साइज निर्धारित करता है, तो आपको यूएस डॉलर को उपयुक्त मुद्रा में बदलना होगा। ऐसे मामलों में, लॉट साइज़ जो  विदेशी मुद्रा में व्यक्त हो, उसे तय नहीं किया जाएगा बल्कि यह पोजीशन ओपन करने के समय जो करेंट रेट था उसपर निर्भर करेगा। अमेरिकी डॉलर में स्टैन्डर्ड लॉट साइज़ आमतौर पर 100,000 के बराबर होता है। 

क्रॉस रेट पर फ़ाईनैनसियल रिजल्ट का अनुमान अलग है। जैसा कि हमने पिछले अध्याय से सीखा है, क्रॉस रेट दो मुद्राओं के बीच करेंसी एक्सचेंज रेट है जब दोनों मुद्राओं में से कोई भी अमेरिकी डॉलर न हो। किसी भी क्रॉस रेट को अमेरिकी डॉलर के साथ दो कॉट्स द्वारा दर्शाया जा सकता है। उदाहरण के लिए, क्रॉस रेट EUR/JPY की गणना EUR/USD और USD/JPY कोट्स द्वारा की जा सकती है। लाभ और हानि की गणना निम्नलिखित है। सबसे पहले, आपको EUR/USD के लिए फ़ाईनैनसियल रिजल्ट की गणना करनी चाहिए, फिर USD/JPY के लिए। टोटल फ़ाईनैनसियल रिजल्ट प्राप्त करने के लिए इन परिणामों को सारांशित किजिए। 

जैसा कि हम सभी जानते हैं, एक्सचेंज रेट में उतार-चढ़ाव को पिप्स द्वारा मापा जाता है। अलग-अलग कॉट्स में पिप वैल्यू अलग होती है। एक डील ओपन करते हुए, यदि कीमत 1 पिप से भी बदलती है तब भी आपको यूएस डॉलर में परिणाम जानना होगा। यह आपको अपने वर्तमान लाभ या हानि का आकलन करने और समय पर पोजीशन क्लोज करने में मदद करेगा। आप ऐसा ऊपर दिए गए फॉर्मूलों का उपयोग करके आसानी से कर सकते हैं। कीमत कॉट के प्रकार (डाइरेक्ट या इन्डाइरेक्ट), लॉट साइज़, लॉट वैल्यू की करेंसी और एक पिप वैल्यू पर निर्भर करेगा। 

आइए हम GBP/USD पेयर पर विचार करें जिसमें 1 लॉट 70,000 पाउंड स्टर्लिंग के बराबर है और 1 pip 0.0001 के बराबर है। जैसे कि यह डाइरेक्ट कॉट है, हम ट्रेडिंग रिजल्ट की गणना के लिए पहले फॉर्मूले का उपयोग करते हैं। बाई और सेल प्राइस के बीच न्यूनतम अंतर हमेशा 1 पिप होता है, और इस मामले में, यह 0.0001 के बराबर होता है। इस प्रकार, 1 पिप द्वारा GBP/USD दर परिवर्तन के 1 लॉट का ट्रेडिंग रिजल्ट 0.0001 * 70,000 = 7 US डॉलर है। 

आइए हम इन्डाइरेक्ट कॉट USD/JPY का निरीक्षण करें जिसमें लॉट साइज 12,500,000 येन और पिप वैल्यू 0.01 है। चूंकि कॉट इन्डाइरेक्ट है, हम ट्रेडिंग रिजल्ट का आकलन करने के लिए दूसरे फॉर्मूले का उपयोग करते हैं। इन्डाइरेक्ट कॉट्स के मामले में केवल एक पिप वैल्यू जानना अपर्याप्त है, क्योंकि एक ट्रेडिंग रिजल्ट बाई और सेल प्राइस पर भी निर्भर करता है। मान लीजिए कि एक अमेरिकी डॉलर के लिए करेंट रेट 104.75 जापानी येन है। इस प्रकार, यदि 1 लॉट की कीमत में परिवर्तन होता है तो हमारे पास निम्नलिखित परिणाम होंगे: ((1/104.75 - 1/104.76) * 12,500,000 = 11.39 यूएस डॉलर। यदि बाई और सेल प्राइस अलग हैं, तो ट्रेडिंग रिजल्ट भी अलग होगा। यदि लॉट साइज़ अमेरिकी डॉलर में है तो हमें इसे जापानी येन की उस कीमत में बदलना होगा जो हमारे पास पोजीशन ओपन करने के समय थी। और यदि आप एक लोंग पोजीशन ओपन करते हैं (यूएस डॉलर का 1 लॉट येन में खरीदना), गणना सेल प्राइस का उपयोग करके की जाएगी, और यदि यह एक शॉर्ट पोजीशन है (येन के लिए अमेरिकी डॉलर का 1 लॉट बेचना), तो गणना बाई प्राइस पर  निर्भर करेगी।

जैसा कि हम देख सकते हैं, एक पिप द्वारा विभिन्न करेंसी पेयर्स की कीमत में परिवर्तन से विभिन्न ट्रेडिंग रिजल्ट प्राप्त होते हैं। GBP/USD के लिए यह USD/JPY से कम होती है। ट्रेडिंग का परिणाम जितना छोटा होगा, कीमतों में प्रतिकूल उतार-चढ़ाव की स्थिति में आपको उतना ही कम नुकसान होगा। विशेष रूप से, आपका लाभ भी कम होगा। बिगीनिंग ट्रेडर्स को GBP/USD और USD/CHF जैसे कम "अग्रेसीव" कॉट्स चुनने की सलाह दी जाती है। 

पहली नज़र में, इस अध्याय में प्रस्तुत गणनाएँ बहुत जटिल लग सकती हैं। वास्तव में, आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि सभी अनुमान प्लेटफ़ॉर्म द्वारा स्वचालित रूप से बनाए जाते हैं। ब्रोकरेज कंपनियां विभिन्न ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की पेशकश कर सकती हैं, लेकिन गणना का सिद्धांत वही रहता है। यह जानना महत्वपूर्ण है कि आपके लाभ और हानि में क्या शामिल है। यह आपको गलती से घाटे के डील को क्लोज करने से बचने की मदद करेगा!


अपनी राय साझा करें

धन्यवाद! क्या कोई ऐसी बात है जो आप जोड़ना पसंद करेंगे?

आपको प्राप्त उत्तर का मूल्यांकन आप कैसे करेंगे?

अपनी टिप्पणी दें (वैकल्पिक)

आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।
हमारे ऑनलाइन सर्वेक्षण को पूरा करने के लिए समय निकालने के लिए धन्यवाद!

smile""