empty
 
 
Caricatures and drawings on Forex portal
यूरोप में ऊर्जा हाथापाई तेज करने के लिए

यूएस-आधारित प्रकाशन ऑयलप्राइस के विशेषज्ञों का मानना है कि रूस विरोधी सख्त प्रतिबंधों के बीच ऊर्जा आपूर्ति में कमी और यूरोप के प्रमुख मार्गों के माध्यम से गैस की आपूर्ति रुकी हुई है, जो अपने ऊर्जा संकट को हल करने के लिए ब्लॉक की हताश लड़ाई को भड़काएगी। OilPrice यकीन है कि इससे यूरोपीय संघ के देशों के बीच भयंकर प्रतिस्पर्धा होगी, जो 2022-2023 की सर्दियों के बाद भी जारी रहने की संभावना है।

रिसर्च कंसल्टेंसी एनर्जी एस्पेक्ट्स के अनुसार, इस क्षेत्र के सामने आने वाला संकट एक से अधिक सर्दियों तक रह सकता है। विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि यूरोपीय देशों को बाजार को संतुलन में रखने के लिए ऊर्जा का उपयोग कम करना होगा। इस रणनीति का पालन पूरे वर्तमान और अगले सर्दियों में किया जाना चाहिए।

जर्मनी के बुंडेसबैंक का कहना है कि ऊर्जा की कमी देश की अर्थव्यवस्था को मंदी की ओर ले जा रही है। इसके अलावा, सर्दी के करघे के रूप में इसके तेज होने की उम्मीद है। आखिरकार, बिजली और गैस की कीमतों में उछाल से अर्थव्यवस्था पर दबाव बढ़ रहा है।

इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, जर्मन सरकार संघर्षरत गैस दिग्गज यूनिपर का राष्ट्रीयकरण करना चाहती है। उद्योग को बचाए रखने के लिए यह उपाय आवश्यक है।

फिलहाल, यूरोप में अधिकांश औद्योगिक उद्यम ऊर्जा की कीमतों में तेज वृद्धि के कारण उत्पादन में कटौती या रोकने के लिए मजबूर हैं। यूरोपीय आयोग वर्तमान में ऊर्जा की बढ़ती लागत से घरों और व्यवसायों को ढालने में मदद करने के तरीकों पर काम कर रहा है। हालांकि, ऊर्जा संकट और कड़ाके की ठंड से उबरने के लिए ये उपाय पर्याप्त नहीं हैं, विशेषज्ञों का मानना है।

Back

See also

अभी बात नहीं कर सकते?
अपना प्रश्न पूछें बातचीत.